गुरुवार, 16 अप्रैल 2020

घर बैठे बालसंस्कार वर्ग, नामजप सत्संग, धर्मसंवाद आदि कार्यक्रमों का लाभ उठाएं !


फरीदाबाद -  ‘कोरोना’ विषाणु ने संपूर्ण विश्‍व में मृत्यु का उत्पात मचा रखा है । इससे लाखों लोग संक्रमित हो चुके हैं । अभी भी यह संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है । इसके फलस्वरूप पूरे भारत में ‘संचारबंदी एवं यातायात बंदी (लॉकडाउन)’ लागू की गई है । कुल मिलाकर समाज में भय का वातावरण बना हुआ है और सर्वत्र चिंता, असुरक्षा और निराशा की भावना बढ गई है । ऐसे समय में सभी का मनोबल गिरता जा रहा है । इस गिरते मनोबल को रोकने, आत्मबल बढाने और इस प्रकार के कठिन प्रसंगों में भी आनंदित रहने हेतु नियमित रूप से साधना करना आवश्यक है । इसे समय की मांग समझकर सनातन संस्था एवं हिन्दू जनजागृति समिति के संयुक्त तत्त्वावधान में ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ आरंभ की गई है ।

      शासन की ओर से यातायात बंदी की अवधि में घर के बाहर न निकलने का आवाहन किया गया है । उसके कारण घर बैठकर भी अनेक लोगों को ‘अब क्या करें, यह समझ में नहीं आ रहा है । ऐसे में बच्चों को भी खेलने के लिए बाहर नहीं भेज सकते; इसलिए अभिभावकों के सामने ‘उन्हें क्या दें’, यह प्रश्‍न है । इस पृष्ठभूमि पर यह ‘ऑनलाइन सत्संग माला’ आपके परिवार के लिए निश्‍चितरूप से पूरक सिद्ध होगी । इस श्रृंखला में छोटे बच्चों के लिए ‘बालसंस्कार वर्ग’; इस भीषण संकटकाल में आत्मबल बढने हेतु ‘नामजप सत्संग’; ईश्‍वर के प्रति श्रद्धा दृढ होकर ईश्‍वर के प्रति भाव की वृद्धि करने हेतु ‘भावसत्संग’; साथ ही आकस्मिक आपदाओं के संदर्भ में ‘धर्म क्या कहता है’, धर्मशिक्षा की आवश्यकता आदि अनेक प्रश्‍नों के उत्तर देनेवाला ‘धर्मसंवाद’, प्रतिदिन ऐसे 4 कार्यक्रम आरंभ किए गए हैं । यह ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ हिन्दू जनजागृति समिति के ‘हिन्दू अधिवेशन’ नामक ‘फेसबुक पेज’ और यू-ट्यूब चैनल ‘हिन्दूजागृति’ के द्वारा, साथ ही सनातन संस्था के ‘फेसबुक पेज’ और ‘यू-ट्यूब चैनल’ द्वारा लाइव प्रक्षेपित की जा रही है । ये सत्संग हिन्दी भाषा के साथ ही कन्नड, तेलगु, तमिल एवं मलयालम भाषाओं में प्रक्षेपित किए जा रहे हैं । घर बैठे इन कार्यक्रमों का लाभ उठाने हेतु ‘लॉकडाउन’ की अवधि का सदुपयोग करें, सनातन संस्था और हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से यह आवाहन किया गया है ।


हिन्दी ‘ऑनलाइन सत्संगमाला’ प्रक्षेपण के समय :
1. नामजप सत्संग - सवेरे 10:30 से 11:15 (पुनर्प्रसारण - दोपहर 4 से 4:45)
2. बालसंस्कार वर्ग - सवेरे 11:15 से 12
3. भावसत्संग - दोपहर 2:30 से 3:15
4. धर्मसंवाद - रात 8:00 से 8:45 (पुनर्प्रसारण दूसरे दिन दोपहर 1 से 1:45)







श्री सुरेश मुंजाल

हिंदू जनजागृति समिति, देहली

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें